scorecardresearch

Infosys FY23Q4 result: इंफोसिस को चौथी तिमाही में 6,128 करोड़ का मुनाफा, सालाना आधार पर 7.8% बढ़ा, 17.50 रुपये का डिविडेंड घोषित

Infosys FY23Q4 result: कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट सालाना आधार पर 7.8 फीसदी बढ़कर 6182 करोड़ रहा. चौथी तिमाही में इंफोसिस का रेवेन्यू 16 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 37,441 करोड़ रुपये रहा है

Infosys
Infosys FY23Q4 result: तिमाही दर तिमाही (QoQ) आधार पर कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट दिसंबर 2022 तिमाही से कम रहा. दिसंबर 2022 में कंपनी का नेट प्रॉफिट 6586 करोड़ रुपये था.

Infosys FY23Q4 result: भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस (Infosys) ने वित्तीय वर्ष 2023 (Financial Year 2023) की आखिरी तिमाही के आंकड़ें जारी कर दिए हैं. कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट सालाना आधार पर 7.8 फीसदी बढ़कर 6182 करोड़ रहा. चौथी तिमाही में इंफोसिस का रेवेन्यू (YoY) 16 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 37,441 करोड़ रुपये रहा है. वहीं, तिमाही दर तिमाही (QoQ) आधार पर कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट दिसंबर 2022 तिमाही से कम रहा. दिसंबर 2022 में कंपनी का नेट प्रॉफिट 6586 करोड़ रुपये था.

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का शानदार प्रदर्शन 

इंफोसिस ने इस साल जनवरी में Q3 आय घोषणा के दौरान FY23  रेवेन्यू गाइडेंस को 15-16 फीसदी के पहले अनुमानित बैंड के मुकाबले 16-16.5 फीसदी तक बढ़ा दिया था. एक साल पहले समान तिमाही में रेवेन्यू 32,276 करोड़ तो 2022-23 की तीसरी तिमाही में रेवेन्यू 38,318 करोड़ रुपये रहा था. पूरे FY23 के लिए इंफोसिस का नेट प्रॉफिट 9 फीसदी बढ़कर 24,095 करोड़ रुपये था, जबकि राजस्व 20.7 फीसदी  बढ़कर 146,767 करोड़ रुपये था. कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में सेक्टर के हिसाब से बताया है कि किस सेगमेंट में कितनी ग्रोथ देखने को मिली है. सबसे ज्यादा मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 22 फीसदी की वृद्धि देखी गई. इसके बाद एनर्जी और ह्यूमन साइंस में 14 फीसदी और रिटेल सेक्टर में सालाना 10 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई.

Passenger Vehicle Wholesale: मार्च में 2 लाख 92 हजार पैसेंजर व्हीकल की बिक्री, होलसेल में 4.7% का इजाफा

17.50 रुपये का फाइनल डिविडेंड देगा इंफोसिस

इंफोसिस ने आज 31 मार्च, 2023 को समाप्त वित्तीय वर्ष के लिए फाइनल डिविडेंड देने का फैसला किया है. इंफोसिस ने 17.50 रुपये प्रति इक्विटी शेयर का फाइनल डिविडेंड घोषित किया. इन्फोसिस ने इस बात की जानकारी रेगुलेटरी फाइलिंग में दी है. कंपनी ने 28 जून, 2023 को अपनी 42वीं एनुअल मीटिंग की भी घोषणा की. इंफोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख ने एक बयान में कहा कि माहौल बदल गया है. हम एफिशिएंसी, कॉस्ट और कंसोलिडेशन के अवसरों के लिए अपने ग्राहकों की रुचि देखते हैं. नतीजन कई बड़े सौदे अभी पाइपलाइन में हैं. हम अपने लोगों में इन्वेस्ट करना जारी रखेंगे.

First published on: 13-04-2023 at 17:33 IST

TRENDING NOW

Business News